Tuesday, November 18, 2008

ऐश्वर्य की दुनिया में ऐसे लोग भी !

वैसे मैं जॉन अब्राहम के बारे में कुछ ख़ास तो नहीं जानता सिवाय इसके कि वे एक अच्छे कलाकार और मॉडल हैं. और हाँ ये भी के विपाशा और जॉन का टांका लगा लेकिन अभी बीबीसी हिन्दी पर ये देखा (जो निचे लिखा है) तो दंग रह गया कि इस माया-नगरी में जहाँ लोग चाहते की अक्खा मुंबई अपुन की हो जाय जॉन जैसा भी कोई धन्ना सेठ होगा जो .... खैर,इतना महंगा कलाकार और इतनी सादगी. भाई मैं तो मुरीद हो गया जॉन का...
______________
जॉन अब्राहम का घर कितना बड़ा है? सोचिए. पाँच हज़ार वर्ग फ़ीट? चार हजार या तीन हज़ार? या शायद दो हज़ार वर्ग फ़ीट? नहीं सिर्फ़ 200 वर्ग फ़ीट. जी हाँ, आपने सही पढ़ा. बैंड स्टैंड, ब्रांदा में उनका घर सिर्फ़ एक कमरे का 200 वर्ग फ़ीट क्षेत्र में है. उसी कमरे में एक तरफ बाथरूम है तो दूसरी ओर रसोईघर. रूम के साथ एक बालकनी है और पीछे एक छोटा सा टेरेस है. घर बहुत अच्छा बना हुआ है. जॉन के पिताजी और भाई आर्किटेक्ट हैं और उन दोनों ने वो घर बनाया है. कमरे में पलंग भी नहीं है. सिर्फ़ सोफासेट है. एक बड़े सोफ़े पर जॉन सोते हैं. नहीं जनाब, अब ये मत सोचिएगा कि आर्थिक मंदी की वजह से जॉन पैसे बचा रहे हैं.

जॉन को ऐसे ही रहना पसंद हैं. जिस बिल्डिंग में उनका टेरेस फ़्लैट है, उसी बिल्डिंग में उनका एक और घर है, जिसकी वो मरम्मत करवा रहे हैं.

लेकिन उसमें वे ख़ुद नहीं रहेंगे. अपने मम्मी-डैडी और भाई-भाभी के लिए जॉन उस घर को तैयार कर रहे हैं. जॉन की तरह उनके परिवार के सदस्य भी बहुत साधारण हैं.

उनके मम्मी-पापा और भाई-भाभी अब भी कभी-कभी बसों या ट्रेन में सफ़र करते हैं. जॉन बताते हैं- मेरे भाई तो मेरी पुरानी शर्ट भी पहनते हैं. वो मुझे मेरे पुराने कपड़े फेंकने नहीं देते.
खबर : बीबीसी हिन्दी वेबसाइट के सौजन्य से

Friday, November 14, 2008

चाँद पर तिरंगा

तिरंगे के चाहने वाले सभी को बधाईयाँ
video
सौजन्य - सीएनएन-आई बी एन

Tuesday, November 04, 2008

शिव सेना पर चुटकी

यूँ वंशवाद की पुरोधा तो हमारी कांग्रेस है, बहुत से अन्य दल भी पीछे नहीं हैं लेकिन आज नई दुनिया के दिल्ली संस्करण में शिवसेना पर ली गयी चुटकी मजेदार है: