Saturday, July 11, 2009

चिंटू और टिनटिन की दोस्ती

जंगल के किनारे वाले हिस्से में एक गिलहरी रहती थी। उस गिलहरी का नाम चिंटू था। वह एक दिन जंगल में जब घूम रही थी, उसे एक चीते का बच्चा टिनटिन दिखाई पड़ा। उसने टिनटिन के पास जाकर पूछा “भैया, तुम लोग जहां खेलते हो, क्या मैं भी वहीं खेल सकता हूं? टिनटिन ने कहा, क्यों नही आज मौसम भी इतना अच्छा है। खेलने में बड़ा मजा आएगा, चलो चलते हैं। दोनो मिलकर खेलेंगे । भालू जलता है तो उसे जलने दो। हम दोनों जमकर मजे करेंगे और लौटकर खूब मजेदार खाना खाएंगे। चलो चलते हैं। फिर दोनों मिलकर खेलने लगे, समय का पता भी नही चला। बहुत ही मज़ा आया दोनों को।

1 comment: